Wednesday, December 12, 2007

विशेष wishes


चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी

दीवाली पर wish किया
birthday पर wish किया
जब भी कोई मौका आया
मैंने उन्हें wish किया

holidays की wish दी तो
हाथ उन्होने खींच लिया
क्रोधित हो उन्होने
मुझे आड़े हाथ लिया

"आप क्यूं बोलते हैं Hinglish?
जब भी आप करते हैं wish
तब ऐसा लगता है कि
आप दे रहे हैं विष"

मैंने कहा, बस please
और न बने language police
माना आपको संतोष नहीं
पर Hinglish का दोष नहीं
चाहे जैसे किया, पर wish किया
ये point तो आपने miss किया

शुद्ध हिंदी से क्या आस करे?
कौन इसका विश्वास करे?
विश्वास शब्द में भी
विष वास करे

जब आप देते हैं
मुझे शुभकामना
क्या आप चाहते हैं कि
मुझे मिले शुभ काम ना?

तर्क छोड़, एक जहां सुहाना सा बुन ले
और एक परस्पर प्यार का साबुन ले
जिससे ये संकीर्णता का विष wash करें
और कोई wish करे तो उसका विश्वास करें

सिएटल
12 दिसम्बर 2007

इससे जुड़ीं अन्य प्रविष्ठियां भी पढ़ें


4 comments:

Mired Mirage said...

बहुत मजेदार !
घुघूती बासूती

Dr.Bhawna said...

bahut hi sundar..
bahut-bahut badhai...

mamta said...

अच्छी प्रस्तुति।

मीत said...

मज़ा आ गया भाई. Hinglish जारी रहे. चाहे वो कुछ लोगों पर भारी रहे.