Saturday, January 21, 2012

आज मौसम बड़ा बेईमान है

आज मौसम बड़ा बेईमान है
आनेवाला कोई चुनाव है

खाली-पीली नेता बक रहे हैं
टीवी-रेडियो पे लड़-मर रहे हैं
एक दूजे का करते अपमान हैं

बारी-बारी से सब बिक रहे हैं
सेठ-साहूकार चैक लिख रहे हैं
लाखों-करोड़ों के इनके अभियान हैं

ऐ मेरे यार, ऐ वोट-वाले
दे मुझे वोट, कर देश हवाले
मेरे हाथों ही इसका कल्याण है

(आनन्द बक्षी से क्षमायाचना सहित)

इससे जुड़ीं अन्य प्रविष्ठियां भी पढ़ें


4 comments:

lall said...

बेशर्मों की बस्ती है यह
बेशर्मों का जंगल
आँखें नीची शर्माते हम सब
देख कर इनका दंगल

आम आदमी सांसत में हैं
क्या उघडें क्या बुन दें
सांसों पर भी पहरा है
हम प्रजातंत्र के बन्दे.

मनप्रीत सिंह said...

Bahut Badiya...

www.gunchaa.blogspot.com

abhishek said...

acha hai hame door talk iska aishas hai

abhishek said...

acha hai