Friday, November 16, 2007

दान


चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी

कभी विधान सभा
तो कभी लोक सभा
चुनाव का माहौल
रहता है सदा
मतदान करें
मतदान करें
देस में ये
नारे कान भरें

हम कहते हैं
आप दान करें
जितना हो सके
उतना दान करें
कुछ अभागों का
कल्याण करें
जीवन ज्योति का
सम्मान करें
गिरे हुओं का
उत्थान करें

कुछ दान करें
कुछ दान करें
आओ चलो
आह्वान करें
हम सब
कुछ दान करें
काम एक
महान करें
भारत पर सब
अभिमान करें
इस आशा को
बलवान करें

सिएटल,
16 नवम्बर 2007

इससे जुड़ीं अन्य प्रविष्ठियां भी पढ़ें


0 comments: