Saturday, February 9, 2008

पहेली 8


चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी

सुबह शाम उभर आती है ज़रुरत
नहीं मिले तो उतर जाती है सूरत
मिलता है हर एक फ़ार्म पर
यहां तक कि 'एप्लिकेशन फ़ार्म' पर
ये सर्वत्र है विराजमान
चाहे हो पोस्ट आँफ़िस या हो दुकान

बूझना है आपका काम
पहेली में ही लिखा नाम
[इस पहेली का हल अंतिम पंक्ति में छुपा हुआ है। ध्यान से देखे तो साफ़ नज़र आ जाएगा। उदाहरण के तौर पर देखे 'पहेली 1'
आप चाहे तो इसका हल comments द्वारा यहां लिख दे। या फिर मुझे email कर दे इस पते पर - upadhyaya@yahoo.com
]

इससे जुड़ीं अन्य प्रविष्ठियां भी पढ़ें


3 comments:

Anonymous said...

khaana

Anonymous said...

khaana

kj said...

KHANA